Please wait...

मंदारिन नहीं, हिंदी है विश्व की नंबर वन भाषा…

नोटियाल की शोध रिपोर्ट में खुलासा

  मंदारिन नहीं, हिंदी है विश्व की नंबर वन भाषा

चीन की भाषा से 200 मिलियन ज्यादा लोग बोलते हैं हिंदी

विश्व में प्रचारित किया जाता है कि चीन की मंदारिन सबसे अधिक बोली जानेवाली भाषा है, लेकिन हिंदी ने इसको काफी पीछे छोड़ दिया है | यह जानकारी मैंगलूर (कर्नाटक) के डॉ. जयंती प्रसाद नोटियाल की शोध रिपोर्ट में सामने आई है | विश्व में हिंदी प्रचार – प्रसार के लिए कार्य कर रहे ग्वालियर के आचार्य राजेन्द्रनाथ मेहरोत्रा ने भी अपनी विश्वव्यापी ग्रंथ श्रृंखला के प्रथम खंड में इसे सही ठहराया है |

मेहरोत्रा के अनुसार यह देशवासियों के लिए गर्व व ख़ुशी की बात है कि दुनिया में हिंदी का प्रसार तेजी से हो रहा है | हिंदी विश्व की सबसे अधिक बोली जानेवाली व लोकप्रिय भाषा बन चुकी है | आचार्य मेहरोत्रा शुक्रवार को सुखाड़िया विवि में कार्यवाहक कुलपति उमाशंकर शर्मा के निमन्त्रण पर आये थे | ऐसा समझें कि इस गणित कोचीन की वर्तमान जनसंख्या 1360 मिलियन है | वहाँ की 70 फीसदी आबादी ही मंदारिन बोलती है | मतलब यह कि चीन में मंदारिन बोलने वाले 950 मिलियन लोग हैं व 150 मिलियन दूसरे देशों में है | चीनी जानने वालों की संख्या में 50 मिलियन वृद्धि हुई | इधर, 2012 में हिंदी जानने वालों की संख्या 1200 मिलियन थी | 2015 में प्रचूर बढ़ोतरी हुई, अब हिंदी जानने वालो की संख्या 1300 मिलियन हो गई है | मंदारिन से 200 मिलियन ज्यादा लोग हिंदी जानते हैं |

चाहे कोई यह माने कि विश्व में अंग्रेजी सबसे अधिक बोली जानेवाली भाषा है या चीन की मंदारिन भाषा सबसे अधिक लोग बोलते हैं परन्तु नहीं – आपकी – या उन लोगों की सोच गलत हो सकती है – अगर आप ऐसा सोचते हैं | हकीकत में हाल ही में ही हुए शोध से यह खुलासा हुआ है कि विश्व की नंबर वन भाषा हिंदी है और सिर्फ अब ये हिन्दुस्तान में ही नहीं विश्व के कई देशों में बोली जानेवाली भाषा बन गई है ! जानिए यह सच्चाई – कि भारत – विश्वगुरु बनने के लिए तेजी से अग्रसर हो रहा है ।

१० साल से हिंदी का प्रचार

आचार्य राजेंद्रनाथ ने बताया कि वे मैकेनिकल इंजिनियर थे | २००७ में न्यूयॉर्क कस संयुक्त राष्ट्र संघ कस सभागार में आयोजित ८वें विश्व हिंदी सम्मलेन में भाग लेने के लिए उन्हें बुलाया गया था | जब विदेशियों में हिंदी के प्रति सम्मान देखा तो जीवन हिंदी के नाम समर्पित करने का संकल्प लिया | मेहरोत्रा हिंदी प्रचार-प्रसार के लिए जुट गए | विश्व में हिंदी की महत्ता, गरिमा, प्रासंगिकता व वर्तमान स्थिति पर ग्रन्थ श्रृंखला तैयार की है | एक ग्रन्थ का लोकार्पण हिंदी दिवस पर १६ सितम्बर को सुखाड़िया विश्वविद्यालय द्वारा किया जायेगा |

टॉप १० हिंदी जाननेवाले देश

देश का नाम        जाननेवालों की संख्या

भारत              १०२३५४१४९०

पाकिस्तान          १६५११२३११

बांग्लादेश           ५९५२३४२१

नेपाल              २५२३४११७

म्यांमार            ३२२११३४

मलेशिया           २७११२१२

यूके               २५३२११३

अमेरिका           २२१२४१५

दक्षिण अफ्रीका       १५१२१११

सउदी अरब         १५०३२१६

मंदारिन से २०० मिलियन ज्यादा लोग हिंदी जानते हैं |

Header image credits

http://spashtawaz.com/wp-content/uploads/2017/09/Hindi-Diwas2-800×445.jpg

Spread the love

Leave comments

Your email is safe with us.